COPYRIGHT © RAJIV MANI, Journalist, Patna

COPYRIGHT © RAJIV MANI, Journalist, Patna
COPYRIGHT © RAJIV MANI, Journalist, Patna

रविवार, 20 मार्च 2016

माल्या देश छोड़ गये

 इन दिनों 
शराब कारोबारी व राज्यसभा सदस्य विजय माल्या देश छोड़कर चले गये हैं। उनपर 17 बैंकों के करोड़ों रुपये उधार हैं। 17 बैंकों के समूह की ओर से अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने यह जानकारी सुप्रीम कोर्ट में दी। सुप्रीम कोर्ट ने माल्या को उनके राज्यसभा ई-मेल आईडी पर लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग के माध्यम से नोटिस भेजने को कहा है। अटार्नी जनरल ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि माल्या 2 मार्च को ही देश छोड़कर चले गये थे।
उन्होंने कहा कि सीबीआई के अनुसार वे ब्रिटेन में हैं। अदालत ने माल्या को नोटिस जारी किया और बैंकों के समूह की याचिकाओं पर 2 हफ्ते में जवाब मांगा है। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की ओर से पेश हुए अटार्नी जनरल ने मामले की जल्द सुनवाई करने की अपील की। जस्टिस कूरियन जोसेफ और जस्टिस रोहिंटन नरिमन की खंडपीठ ने कहा कि माल्या तक नोटिस उनके ई-मेल आईडी, लंदन में भारतीय उच्चायोग के जरिये पहुंचायें।
क्या चाहते हैं बैंक : सभी बैंक चाहते हैं कि अदालत माल्या की संपत्ति का खुलासा करने और उसे जब्त करने के आदेश जारी करे। इसके अलावा माल्या का पासपोर्ट जब्त किया जाए और उन्हें अदालत में पेशी के लिए खुद आने के निर्देश जारी किये जाएं। अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने बताया कि माल्या की विदेशों में उनके द्वारा बैंकों से लिये गये लोन से कहीं अधिक संपत्ति है।
बैंकों को भी फटकार : सुप्रीम कोर्ट ने बैंकों को भी फटकार लगायी। कोर्ट ने कहा कि अगर आपको पता था कि वे डिफाल्टर हैं और उनके खिलाफ कोर्ट में सुनवाई चल रही है, तो फिर लोन क्यों दिया। माल्या पर विभिन्न बैंकों मंे 9,000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है।