COPYRIGHT © RAJIV MANI, Journalist, Patna

COPYRIGHT © RAJIV MANI, Journalist, Patna
COPYRIGHT © RAJIV MANI, Journalist, Patna

शनिवार, 2 अप्रैल 2016

कियूल-गया रेल लाईन का दोहरीकरण

 संक्षिप्त खबर 
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति ने 1354.22 करोड़ रुपये की पूर्णता लागत के साथ 124 किलोमीटर की कियूल-गया रेल लाईन के दोहरीकरण को मंजूरी दे दी। इस लाईन के दोहरीकरण से इन दोनों खंडों के बीच लगातार बढ़ते माल परिवहन का बोझ कम होगा। इस परियोजना के 2019-20 तक पूर्ण हो जाने की उम्मीद है। इस परियोजना के जरिये बिहार के लक्खीसराय, शेखपुरा, नवादा एवं गया जिलों को लाभ होगा।

रांची (हटिया)-बोंडामुंडा रेल लाईन के दोहरीकरण को मंजूरी 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति ने 1921.94 करोड़ रुपये की पूर्णता लागत के साथ 158.5 किलोमीटर लम्बी रांची (हटिया)-बोंडामुंडा रेल लाईन के दोहरीकरण को मंजूरी दे दी। इस परियोजना के 12वीं एवं 13वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान अगले छह वर्षों में पूर्ण हो जाने की उम्मीद है।
इस लाईन के दोहरीकरण से इस खंड की लाईन क्षमता का संवर्द्धन होगा और यह बाढ़ में बन रहे सुपर थर्मल बिजली संयंत्रों एवं कटनी तथा बरौनी जैसे अन्य बिजली संयंत्रों की माल आवागमन जरूरतों की पूर्ति में सहायक होगा। दोहरे रेल लाईन का निर्माण आवागमन बाधाओं को सरल करने में सहायक होगा। 
इस परियोजना के जरिये झारखंड के रांची, गुमला एवं सिमडेगा जिलों तथा ओडिशा के सुंदरगढ़ जिले को लाभ पहुंचेगा। बोकारो स्टील संयंत्र एवं राउरकेला स्टील संयंत्र के विस्तार के साथ मौजूदा लाईन क्षमता का उपयोग बढ़कर क्रमशरू 226 प्रतिशत एवं 171 प्रतिशत हो जाएगा। कच्चा मालों एवं परिष्कृत स्टील की अतिरिक्त मात्रा जिसकी इस परियोजना खंड के तहत ढुलाई होगी, 2025-26 तक बढ़कर 10 एमटीपीए के स्तर तक पहुंच जाएगी।